in

हिंदी कहानी | बड़ा हाथी नन्हा कछुआ – Hishayari…

बड़ा हाथी नन्हा कछुआ

एक
कछुआ था। छोटा- सा नटखट सा। कोई भी जानवर पानी में उतरता तो वह खूब शरारत
करता। नहीं सकता तो खूब शरारत करता । उन्हें गुदगुदी करता । हाथी को तो
ज्यादा ही चिढ़ाता। एक दिन जब साथी नहाने के लिए पानी में घुसा तो कछुआ
तैरता हुआ आया और  करता हुआ उसकी पीठ पर बैठ गया । हाथी नहाकर पानी के बाहर
आ गया। साथ में उसकी पीठ पर बैठा कछुआ भी। हाथी चल पड़ा। रास्ते में एक
तितली मिली। 

वह बोली- हाथी दादा, इस शरारती कछुए को कहाँ लिए जा रहे हो।
हाथी
बोला- तू बड़ा बदमाश है। जब भी पानी पीने जाता हूँ। मुझसे शरारत करता है
।चल, मैं तुझे अपनी पीठ से भी ऊँची जगह पर बिठाता हूँ। कछुए ने पूछा- कहाँ,
हाथी बोला- उस बरगद के पेड़ पर। उसकी सबसे ऊँची डाल पर। तुम्हारी यही सजा
है। कछुआ बहुत घबराया। पर उसने हिम्मत नहीं हारी। उसने कहा- मैं बरगद की
डाल पर बैठने से नहीं डरता। 

मैं खूब झूला झूला झलूँगा। कोयल से गाना
सुनूँगा। कबूतर से कहानी सुनूँगा। कौए से खूब बातें करूँगा। उसकी ऊँची डाल
पर मुझे बड़ा मजा आएगा। हाथी ने पूछा- तू बड़े पेड़ पर बैठने से नहीं डर
लगता। बिल्कुल नहीं- कछुए ने सीना तानकर कहा। मगर उस नदी के किनारे वाले आम
के पेड़ से डरता हूँ जिसकी लंबी टेढ़ी डाल नदी में झुकी हुई है।ओह वह डाल
कितनी मोटी है। देखकर ही डर लगता है। लगता है बैठते ही गिर पड़ूँगा। बस उस
पेड़ पर मुझे मत बैठाना।कछुआ बोला। हाथी जोर से हँस पड़ा।
 

अपने
बड़े-बड़े कान हिलाते हुए बोला- अब मैं तुझे उसी पर बैठाऊँगा। कछुआ चुप
रहा। हाथी ने जैसे ही पानी में झुकी हुई आम की डाल पर कछुए को बैठाया, वह
पानी में कूद गया। फिर कछुए ने पानी से अपनी गर्दन हिलाकर हँसते हुए कहा-
हाथी दादा धन्यवाद। यह कहकर उसने झट से अपनी गर्दन पानी में छुपा ली।

Bada Haathee Nanha Kachhua

 
ek kachhua tha. chhota- sa natakhat sa. koee bhee jaanavar paanee mein utarata to vah khoob sharaarat karata. nahin sakata to khoob sharaarat karata . unhen gudagudee karata . 

haathee ko to jyaada hee chidhaata. ek din jab saathee nahaane ke lie paanee mein ghusa to kachhua tairata hua aaya aur karata hua usakee peeth par baith gaya . haathee nahaakar paanee ke baahar aa gaya. saath mein usakee peeth par baitha kachhua bhee. haathee chal pada. raaste mein ek titalee milee. vah bolee- haathee daada, is sharaaratee kachhue ko kahaan lie ja rahe ho. 

haathee bola- too bada badamaash hai. jab bhee paanee peene jaata hoon. mujhase sharaarat karata hai .chal, main tujhe apanee peeth se bhee oonchee jagah par bithaata hoon. kachhue ne poochha- kahaan, haathee bola- us baragad ke ped par. usakee sabase oonchee daal par. tumhaaree yahee saja hai. kachhua bahut ghabaraaya. par usane himmat nahin haaree. usane kaha- main baragad kee daal par baithane se nahin darata. main khoob jhoola jhoola jhaloonga. koyal se gaana sunoonga. kabootar se kahaanee sunoonga. 

kaue se khoob baaten karoonga. usakee oonchee daal par mujhe bada maja aaega. haathee ne poochha- too bade ped par baithane se nahin dar lagata. bilkul nahin- kachhue ne seena taanakar kaha. magar us nadee ke kinaare vaale aam ke ped se darata hoon jisakee lambee tedhee daal nadee mein jhukee huee hai.oh vah daal kitanee motee hai. dekhakar hee dar lagata hai. 

lagata hai baithate hee gir padoonga. bas us ped par mujhe mat baithaana.kachhua bola. haathee jor se hans pada.
apane bade-bade kaan hilaate hue bola- ab main tujhe usee par baithaoonga. kachhua chup raha. haathee ne jaise hee paanee mein jhukee huee aam kee daal par kachhue ko baithaaya, vah paanee mein kood gaya. phir kachhue ne paanee se apanee gardan hilaakar hansate hue kaha- haathee daada dhanyavaad. yah kahakar usane jhat se apanee gardan paanee mein chhupa lee.


What do you think?

Written by Admin

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

नटखट बंदर – Kahaniya | Hindi Kahani … – HiShayari

Hindi Jokes | Funny Jokes In Hindi | हिंदी में…