Paagal Shayari | पागल शायरी | Pagal Shayari Status...

किसी प्यार में Pagal होना आम बात हैं | एस तरह पागल हो जाते हैं की दिन रात का पाता नही चालता है उस प्यार माई दुबता चला जटा हैं पगालपन हो जाता है | फिर वो ना मिले मर जेन का दिल करता हैं | फिर उसके बारे मैं किताबो मैं Shayari आदि लिखने लगता हैं | एस तरह की शायरी हैम आप के लिये लेकर आये हैं |

Paagal Shayari
Hame Paagal Bana Dete Hain
Paagal Shayari


Teer chalaakar vo ,najaren chura lete hain.
Khuda jaane kyon vo,hame paagal bana dete hain.


तीर चलाकर वो ,नजरें चुरा लेते हैं।
खुदा जाने क्यों वो,हमे पागल बना देते हैं।





Dil to pagal hai
 Chhodiye umar kee  bate, shayari ki koe umar hotee hai, 
Dil to pagal hai, dil to pagal hai, dil lagee kee koe umar hotee hai.


छोड़िये उमर की बातें, शायरी की कोई उमर होती है ।
दिल तो पागल है, दिल तो पागल है, दिल लगी की कोई उमर होती है ।




Dosh  chahat ko milta hai
 Dosh  chahat ko milta hai, badnam vapha hee hoti hai.
Bijlee phlak se girteee hai, badnam vapha hee hoti hai.
 
दोष चाहत को मिलना है, बदनाम वफा ही होती है ।
बिजली फल्क से गिरती है, बदनाम वफा ही होती है ।
 
 
 Mujhe Pagal Bbana Raha Hai 
 Har pal har lamha tumate bare mai sachta rahta haun.
Tujhmen kya hai jo mujhe pagal bana raha hai.


हरपाल हरलाम्हा तुम्हारे बारे मै सोचता रहता हूं।
तुझमें क्या है जो मुझे पागल बना रहा है। 



Haan tere liye pagal hoon main

Tu lakh sitam dhaata hai aur shikwaa bhi nahin hai kyon mujhko.
Haan tere hoon deewaana aur haan tere liye pagal hoon main.

तू लाख सितम ढाता है और शिकवा भी नहीं है क्यों मुझको। 
 हाँ तेरा हूँ दीवाना हाँ तेरे लिए पागल हूँ में। 



 


Post a Comment

Previous Post Next Post