Monday, December 21, 2020

Letest Matlabi Dost Shayari | Matlabi Shayari Hindi | Matlabi Shayari 2 Line.

SHARE

 Matlabi Shayari

 Duniya ne hamen bhi matlabi bana diya

Letest Matlabi Dost Shayari | Matlabi Shayari Hindi | Matlabi Shayari 2 Line.

 

Is matlabi duniya men koi kisi ka nahi hota hai.
Ham sichte aur karte dusre ka bhala hamen na koi kiya.   
Duniya ne hamen bhi matlabi bana diya.

इस मतलबी दुनिया में कोई किसी का नहीं होता है।
हम सोचते और करते दुसरे का भला हमें ना कोई किया,
 दुनिया ने हमें भी मतलबी बना दिया।
 

 

Meharani kuchh n ki meri 

 Meharani kuchh n ki meri gareebi dekhkar.
Baal bachche ro rahe hai khali thali ko dekhkar.
Bibi mujhse kahti hai sone ki jewar chahie,
Rooth kar baithi alag pital ki bali dekhkar.

मेहरबानी कुछ न की मेरी गरीबी देखकर,
बाल बच्चे रो रहे है खाली थाली कर देखकर।
बीबी मुझसे कहती है, सोने की जेवर चाहिए,
रूठ कर बैठी अलग ,पीतल की बाली देखकर।

 



Jiya binoo deh nadi bin nari

Jiya binoo deh nadi bin nari.
Waise hi nath puroos binoo nari.

जिया बिनू देह नदी बिन नारी,
वैसे ही नाथ, पुरुष बिनू नारी।

 



Dhoti ne kaha paijame se

Dhoti ne kaha paijame se donon bane hai dhage se.
Fark itna hi hai ki ham khulte hai pichhe se.
Tum khulte ho aage se.

धोती ने कहा  पैजामे से दोनों बने है धागे से।
फर्क इतना ही है की हम खुलते है पिछे से,
तुम खुलते हो आगे से।

 

 


Aasma se shabnam gire

 
Khak  isi dosti dil lage aur chhut jay.
Aasma se shabnam gire moti bane aur toot jay.

खाख इसी दोस्ती, दिल लगे और छुट जाय।
आसमा से शबनम गिरे, मोती बने और टूट जाय।

 

 


Dansar ke lie gati hai

 
Dansar ke lie gati hai besuri
Magar chikhti to hai.
Chakki hai kamar badi patli magar pisti to hai.

डांसर के लिए गाती है बेसुरी,
मगर चीखती तो है।
चक्की है कमर बड़ी पतली मगर पीसती तो है।

 


Lahaga utha kar dekha to

Upar se dekhie to thath bat hai.
Lahaga utha kar dekha to mokama ghat hai.

ऊपर से देखिए तो ठाठ बात है।
लहंगा उठा कर देखा तो मोकामा घाट है।
 


...Read More Shayari

SHARE

Author: verified_user