Nafrat Shayari, Status, Quotes, SMS | नफरत शायरी | 2 Line Nafrat Shayari Hindi.

Posted on
Nafrat Shayari
जिन्दगी में कभी – कभी ऐसा वक्त आता है कि हम दुखी हो जाते है। उसी प्रकार कभी खुश हो जाते है उसी प्रकार से किसी को बहुत चाहते है। तो किसी को नफरत ( Nafrat Shayari ) भी करते है। जिन्दगी ने हमें प्यार से ज्यादा नफरत करना सिखा दिया है।  

Ab nafrat si hone lagi hai 

 
Mera dil le liya tune mujhe ekbar dekhkar.
Kuch n kar saka mai tujhe barbar dekhkar.
Ab nafrat si hone lagi hai tumhe dekhkar.

मेरा दिल ले लिया तूने मुझे एकबार देखकर।
कुछ न कर सका मै तुझे बारबार देखकर।
अब नफरत सी होने लगी है तुम्हे देखकर। 
 


Jo kiya tha tune wada yaad hai
 
Dard jo sine me hai fariyad hai.
Dil ki duniya dard se aawad hai.
Umro bhar sath dene ke lie jo kiya tha tune wada yaad hai.

दर्द जो सीने में है फ़रियाद है,
दिल की दुनिया दर्द से आवाद है।
उम्र भर के साथ देने के लिए जो किया था तूने वादा याद है।
 
 
Mujhe se na pooch ke ashkon ka
 
Mujhe se na pooch ke ashkon ka fasana kiya hai.
To kisi shajar ke ujjrey hovey pattey se pooch,
Tujhe ro ro ke sunaye ga fasana kiya hai.

मुझसे न पूछ की अश्कों को फ़साना क्या है।
तू किसी शजर के उजड़े हुए पत्ते से पूछ ,
तुझे रो रो के सुनायेगा फ़साना क्या है।
 
 
Kisi ko pyar ki hawa n lage
 
Dawa n kam aaye duaa bhi n lage.
Ya khuda kisi ko pyar ki hawa n lage.

दवा न काम आये, दुआ भी न लगे.
या खुदा किसी को, प्यार की हवा न लगे. 
 
 
Maine pyar ka nagma gaya to tu sanam

Maine pyar ka nagma gaya to tu sanam daudi chali aai.
Maine pyar ka shayari sunaya to tu sanam paas aai.

मैंने प्यार का नगमा गया तो तू सनम दौड़ी चली आई।
मैंने प्यार का शायरी सुनाया तो तू सनम पास आई।
 
 
Najar se najar mil jati hai to chah
 
Dagar pe dagar mil jati hai to rah aur bhi bad jati hai.
Najar se najar mil jati hai to chah aur bhi chad jati hai.

डगर पे डगर मिल जाती है तो रह और भी बड जाती है।
नजर पे नजर मिल जाती है तो चाह और भी चढ़ जाती है।
 


Dil saham kar rah gai fariyad
 
Dil saham kar rah gai fariyad karte karte.
Ankhe thak gai teri intjar karte karte.

दिल सहम कर रह गई फरियाद करते करते।
आंखे थक गई तेरी इंतजार करते करते।
 
 
Bolo chala aunga jagah kya hai

Kyon nitrati ho wajah kya hai.
Bolo chala aunga jagah kya hai.


क्यों नित्रती हो वजह क्या है।
बोलो चला आऊंगा जगह क्या है।
 
 
Ptthar se patthar takrata hai to
 
Ptthar se patthar takrata hai to aag paida hota hai.
Jigar se jigar takrata hai nila dag paida hota hai.

पत्थर से पत्थर टकराता है तो आग पैदा होता है।
जिगर से जिगर टकराता है तो नीला दाग पैदा होता है।
 
 

Read more Nafrat shayari

Leave your vote

Comments

0 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *