Urdu Shayari ! उर्दू शायरी ! TOP Latest Urdu Hindi Shayari Collection 2022.

4.5/5 - (2 votes)

Urdu Shayari और Hindi Shayari font mix करके लिखी गई है, मेरे जितने भी शायरी प्रेमियों के लिए भावना वक्त करते हुई, उर्दू हिंदी शायरी आप के लिए पेश किये हैं, मैंने आपके लिए सबसे अच्छा और बेहतर लाया हूँ और लता रहूँगा, इस ब्लॉग वेबसाइट अनेक सारे बेहतरीन 50000 Shayari लिखें – Mohabbat Shayari, Pagalpanti Shayari, Nazar Shayari, Dua Shayari, Tanhai Shayari, Gadariya Shayari, Wada Shayari, Ishq Shayari, Zakhmi Shayari, Dard Bhari Shayari, Khubsurat Shayari, Girl Shayari, Umeed Shayari, Fikar Shayari, Taj Mahal Shayari, Yaad Shayari, Bhula Shayari, Non Veg Shayari, Deep Shayari, Romantic Shayari, Sajan Shayari, Muskurahat Shayari, Badnaam Shayari, One Sided Love Shayari, Movie Dialogue, Movie Dialogue, Shayari Ki Diary, Hurt Shayari, आदि, आपकी मन पसंदीदा शायरी चुने पड़ें और हमें कमेंट करके बताएँ, जितने भी पड़ें हुएँ लोगों से वान्ति है की whatsapp, Facebook, आदि social media पर शेरे करें, धन्यवाद…

Urdu Shayari ! उर्दू शायरी

Urdu Shayari

Pyar karna to hhai nahi gunah.
Tumhen pane ki hai sach meri chaah.

प्यार करना तो है नहीं गुनाह,
तुम्हें पाने की है सच मेरी चाह।

 

Mai birbal nahi ki jabab dun sawal ka.
Hasin hun husn ki adhikarii hhun maal ka.

मै बीरबल नहीं की जबाब दूँ सवाल का,
हसीन हूँ हुस्न की अधिकारी हूँ माल का।

Urdu Shayari ! उर्दू शायरी

Urdu Poetry

Sah n sakta mai badnami ki daag.
Pyar ko samjhta hun dahkti hui aag.

सह न सकता मैं बदनामी की दाग,
प्यार को समझता हूँ दहकती हुई आग।

Chandni chand ki tere galon me khil gai.
Badlon ki roshni tere balon me mil gai.

चांदनी चाँद की तेरे गलों में खिल गई,
बादलों की रौशनी तेरे बालों में मिल गई।

Urdu Shayari ! उर्दू शायरी

Urdu shayari

Tere badan me hai aasman ka rang.
Tere aakhir hai mera man bahut tang..

तेरे बदन में है आसमां का रंग,
तेरे आखिर है मेरा मन बहुत तंग।

Mithi- mithi baat se bhadakao n mujhe.
Kahti hun baar- baar satao n mujhhe.

मीठी – मीठी बात से भड़काओ न मुझे,
कहती हूँ बार – बार सताओ न मुझे।

Urdu Poetry ! उर्दू शायरी

Urdu Shayari

Satata rahunga jab tak han kar n don.
Jab tak jigar meri jan bhar n do.

सताता रहूँगा जब तक हां कर न दों,
जब तक जिगर मेरी जां भर न दो।

Mere jism ka n udaao majak.
Karoge dah to ho jaaoge khaak.

मेरे जिस्म का न उडाओ मजाक,
करोगे डाह तो हो जाओगे खाक।

 

Urdu Poetry ! उर्दू शायरी

Urdu poetry

Sooraj se nahi muhabbat jigar se hoti.
Aatma ki pahchan kya figar se hoti.

सूरज से नहीं मुहब्बत जिगर से होती,
आत्मा की पहचान क्या फिगर से होती।

Tum Aaon saj- dhaj ke mai saath dungi.
Marne ke pahle tere hathon me haath dungi.

तुम आओं सज – धज के मै साथ दुंगी,
मरने के पहले तेरे हाथों में हाथ दूंगी।

 

Urdu Poetry ! उर्दू शायरी

Sristi n hoti agar hota n pyar.
Kyon lagate ho illam ki deewar.

सृष्टी न होती अगर होता न प्यार,
क्यों लगाते हो इल्लम की दीवार।

Jindegi bhar saath dungi ab n ghabdaao tum.
Maaf kar do mujhe ab n roolaao tum.

जिन्दगी भर साथ दूंगी अब न घबड़ाओ तुम,
माफ़ कर दो मुझे अब न रूलाओ तुम।

Read more

 

Admin
Admin
नमस्कार मै हूँ Binod Singh, Hishayari.com मै आपका बहुत - बहुत स्वागत है। मै Author & Co-Founder हूँ। पेशे से Blogger और YouTuber हूँ, आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं Shayari, Status, Quotes, Sms उपलब्ध करवाते रहेंगे और site को Bookmark कर ले।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

CATEGORY