Pagal Shayari, Status, Quotes, Sms | पागल शायरी | Pagal Shayari In Hindi.

3.4/5 - (5 votes)

किसी प्यार में Pagal होना आम बात हैं। एस तरह पागल हो जाते हैं की दिन रात का पाता नही चालता है उस प्यार माई दुबता चला जटा हैं पगालपन हो जाता है। फिर वो ना मिले मर जेन का दिल करता हैं । फिर उसके बारे मैं किताबो मैं Shayari आदि लिखने लगता हैं । एस तरह की शायरी हैम आप के लिये लेकर आये हैं।

Paagal Shayari

Hame Paagal Bana Dete Hain

Paagal Shayari
Teer chalaakar vo ,najaren chura lete hain.
Khuda jaane kyon vo,hame paagal bana dete hain.
तीर चलाकर वो ,नजरें चुरा लेते हैं।
खुदा जाने क्यों वो,हमे पागल बना देते हैं।

Dil to pagal hai

Chhodiye umar kee  bate, shayari ki koe umar hotee hai,
Dil to pagal hai, dil to pagal hai, dil lagee kee koe umar hotee hai.

छोड़िये उमर की बातें, शायरी की कोई उमर होती है ।
दिल तो पागल है, दिल तो पागल है, दिल लगी की कोई उमर होती है ।

Dosh  chahat ko milta hai

Dosh  chahat ko milta hai, badnam vapha hee hoti hai.
Bijlee phlak se girteee hai, badnam vapha hee hoti hai.
दोष चाहत को मिलना है, बदनाम वफा ही होती है ।
बिजली फल्क से गिरती है, बदनाम वफा ही होती है ।

Mujhe Pagal Bbana Raha Hai

 Har pal har lamha tumate bare mai sachta rahta haun.
Tujhmen kya hai jo mujhe pagal bana raha hai.

हरपाल हरलाम्हा तुम्हारे बारे मै सोचता रहता हूं।
तुझमें क्या है जो मुझे पागल बना रहा है।

Haan tere liye pagal hoon main

Tu lakh sitam dhaata hai aur shikwaa bhi nahin hai kyon mujhko.
Haan tere hoon deewaana aur haan tere liye pagal hoon main.
तू लाख सितम ढाता है और शिकवा भी नहीं है क्यों मुझको। 
हाँ तेरा हूँ दीवाना हाँ तेरे लिए पागल हूँ में।  

प्यार में पागल शायरी

Tujhe aapna banake pagal ho  

Paagal Shayari | पागल शायरी | Pagal Shayari Status...
Chhod de duniya dari tere pichhe pada rahunga.
Tujhe aapna banake pagal ho jahunga jidh pe ada rahunga.

छोड़ दे दुनिया दारी, तेरे पीछे पड़ा रहूँगा।
तुझे अपना बनाके पागल हो जहुंगा ,जिध पे अड़ा रहूँगा।।
 

Chod diya pagla samajh ke

Maine tujhe pyar kiya abla samajh ke,
Tumne mujhe chod diya pagla samajh ke.
मैंने तुम्हे प्यार किया अबला समझ के,
तुमने मुझे छोड़ दिया पगला समझ के। 

मोहब्बत में पागल शायरी

Pagal bane ho tum kyon mere

Pagal bane ho tum kyon mere pichhe aaj.
Hokar bhi mard kya jara bhi nahi laaj.

पागल बने हो तुम क्यों मेरे पीछे आज।
होकर भी मर्द क्या जरा भी नहीं लाज।

Ho jata hai pagal pyasa agar

Laaj nahi hoti aane pe jawani.
Ho jata hai pagal pyasa agar dekh le pani. 

लाज नहीं होती आने पे जवानी।
हो जाता है पागल प्यासा अगर देख ले पानी। 

Pagal ho jata hun wo kisse sunaun kaise

Dil toda hai kisne bataao to jara.
Kahan hai jakhm dikhaao to jara.
Pagal ho jata hun wo kisse sunaun kaise.
दिल तोडा है किसने बताओ तो जरा।
कहाँ है जख्म दिखाओ तो जरा,
पागल हो जाता हूँ वो किस्से सुनाऊँ कैसे। 

oye pagal shayari

Pagal ho jata hun wo kisse sunaun

Jigar me hai jakhm dikhaun kaise.
Pagal ho jata hun wo kisse sunaun kaise. 

जिगर में है जख्म दिखाऊँ कैसे।
पागल हो जाता हूँ वो किस्से सुनाऊँ कैसे। 
  

Pagalon ki tarah to nahi tum

Pagalon ki tarah to nahi tum aaghat karo.
Mujhpe wishwash karo n dil me tum aaghat karo.

पागलों की तरह तो नहीं तुम आघात करो
मुझपे विश्वाश करो न दिल में तुम आगत करो

Ham to pagal hai

Pagal ban gai hun

pagal shayari dp

Pagal ban gai hun aur soorat hui kharab.
Teri yadon kee aandhi sukha diya gulab.

पागल बन गई हूँ और सूरत हुई ख़राब
तेरी यादों की आंधी सुखा दिया गुलाब

Pagal huaa man tum jab se yahan

Pagal huaa man tum jab se yahan aay ho.
N jane kaise mujhe pagal banaye ho.

पागल हुआ मन तुम जब से यहाँ आए हो।
न जाने कैसे मुझे पागल बनाये हो।

Loot ke meri jindegi aayi ho

Seemak laga ke jism me aai ho jalne fir,
Loot ke meri jindegi aayi ho roolane fir.
Punh lootne ke khyal se,
AAi ho triya chrittar padi fir.

दीमक लगा के जिस्म में आई हो जलने फिर,
लूट के मेरी जिन्दगी आयी हो रूलाने फिर।
पुनः लूटने के ख्याल से,
आई हो त्रिया चरित्तर पड़ी फिर।

pagal shayari dp

Jigar bana mitti ka putla ise ne

Nirmal labj bol ke shishe ka dil n tod de.
Jigar bana mitti ka putla ise ne fod de.

निर्मल लब्ज बोल के शीशे का दिल न तोड़ दे।
जिगर बना मिट्टी का पुतला इसे ने फोड़ दे।

Lambi umro mangi thi mai tere

Tohfa lekar aai hun aaj bada arman se.
Lambi umro mangi thi mai tere bhagwan se.

तोह्फा लेकर आई हूँ आज बड़ा अरमान से।
लम्बी उम्र मांगी थी मै तेरे भगवन से।

Bhool n sakta hun kabhi jo tumne

Kankal bana di jindegi ko ab kisne bulaya hai.
Bhool n sakta hun kabhi jo tumne mujhe roolaya hai.

कंकाल बना दी जिन्दगी को अब किसने बुलाया है।
भूल न सकता हूँ कभी जो तुमने मुझे रूलाया है।

Leave your vote

Comments

0 comments

Leave a Comment

close

Log In

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.